Do You Know Health Benefits of Massage in the Sun?

Massage-Health Benefits of Massage in the Sun
Massage-Health Benefits of Massage in the Sun

Do You Know Health Benefits of Massage in the Sun?

Massage is of particular importance in Ayurveda. This is called abhyang in Ayurveda. Abhayang is considered useful in both healthy and diseased states.

Massage-Health Benefits of Massage in the Sun
Massage-Health Benefits of Massage in the Sun

Massage is recommended regularly before bathing in Ayurveda. For this the use of mustard, coconut, almond and olive oil etc. is used according to season and disease.

Massage of mustard and coconut oil in winter, improves circulation, strengthening muscles and muscles. Due to massaging in the sun, vitamin D is obtained, so that the hair is strong and flexible.

Do not take bath after 10 minutes, after bathing.

Cirrhung and Tremor

Circulation (head massage): It removes stress. Headache and neck pain relief and good sleep. Damping (foot massage): This increases the eyesight of the eyes and strengthens the legs. Massage from sandalwood, Mahavishabhabh and Mahanarayana oil in diseases like insomnia, migraine, arthritis, stress etc.

क्या आप सूरज में मालिश के इन फायदों को जानते हैं?

मालिश आयुर्वेद में विशेष महत्व है इसे आयुर्वेद में अभ्यंग कहा जाता है। अभयंग स्वस्थ और रोगग्रस्त दोनों राज्यों में उपयोगी माना जाता है।

आयुर्वेद में स्नान करने से पहले नियमित रूप से मालिश की सिफारिश की जाती है। इसके लिए सरसों, नारियल, बादाम और जैतून का तेल आदि का उपयोग मौसम और बीमारी के अनुसार किया जाता है।

सर्दियों में सरसों और नारियल के तेल की मालिश, परिसंचरण में सुधार, मांसपेशियों और मांसपेशियों को मजबूत करना। सूरज में मालिश करने के कारण, विटामिन डी प्राप्त किया जाता है, ताकि बाल मजबूत और लचीला हो।

स्नान के बाद 10 मिनट के बाद स्नान न करें।

सर्फंग और कंपकंपी

संचलन (सिर की मालिश): यह तनाव को हटा देता है सिरदर्द और गर्दन दर्द राहत और अच्छी नींद। डंपिंग (पैर मालिश): इससे आंखों की दृष्टि बढ़ जाती है और पैरों को मजबूत किया जाता है। अनिद्रा, माइग्रेन, गठिया, तनाव इत्यादि जैसी बीमारियों में चंदन, महाविभाभा और महानारायण तेल से मालिश

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*